उत्तर प्रदेश की राजनीति में उभरती युवा शक्ति

Short info :- राजनीति में तो युवा शक्ति की विशेष उपादेयता है युवा उत्साह और ऊर्जा से लबरेज होता है ,और अपने इन्हीं गुणों से व राजनीति में भी गति और गरिमा लाता है,

राजनीति की गतिशीलता के लिए जरूरी है कि उसमें युवा शक्ति की भागीदारी पड़े राजनीति में युवा शक्ति की सक्रियता गुणवत्ता बदलाव लाती है,आशा और स्फूर्ति का संचार करती है,

राजनीति में युवा शक्ति की अहमियत कल भी थी और आज भी है कल भी परिस्थिति भले ही अलग किस्म की रही हो

भारतीय राजनीति में युवा शक्ति का एक गौरवशाली अतीत रहा है और वीर शिवाजी वीरांगना लक्ष्मीबाई जैसे युवा शक्तियों ने,

अपने पराक्रम सूझबूझ और साहस की जो मिसाल पेश की है वह दूध है,सच तो यह है कि भारत की स्वाधीनता संग्राम को युवा शक्ति ने,

ही अंजाम तक पहुंचाया था वीर सावरकर चापेकर बंधु चंद्रशेखर आजाद मदनलाल ढींगरा भगत सिंह राजगुरु सुखदेव अशफाक उल्ला खान ,

सुभाष चंद्र बोस श्यामजी कृष्ण वर्मा रासबिहारी बोस आदि ने आजादी की लड़ाई में युवा शक्ति का ही प्रतिनिधित्व किया

और अंग्रेजों को वापस लौटने पर विवश कर दिया यह कहना गलत ना होगा कि तत्कालीन परिस्थितियों में राजनीति में युवा शक्ति ने

अपनी महत्वपूर्ण उपस्थिति दर्ज कराई थी भारतीय युवाओं को राजनीति में दिशा बहुत करवाने में युवा विवेकानंद की भूमिका अग्रणी रही यह सच है कि स्वामी विवेकानंद को व्यवहारिक राजनीति का कोई सरोकार नहीं था

और उन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य के नैतिक आधार को खुली चुनौती नहीं दी किंतु इससे भी बढ़कर भारतीय संस्कृति का वर्चस्व स्थापित करके

उन्होंने विदेशी शासन को निरर्थक सिद्ध कर दिया राजनीति में प्रत्यक्ष अभिरुचि ना रखते हुए भी स्वामी जी ने सांस्कृतिक क्षेत्र

भारत के यूरोपी करण का विरोध किया उनका कहना था कि हमें अपनी विशिष्ट प्रकृति के अनुरूप अपना विकास करना चाहिए

दूसरों की प्रथाएं उन्हीं के लिए अच्छी हो सकती हैं किंतु हमारे समाज पर तो अपने उचित नहीं है पश्चिम के अंधानुकरण से हम अपना उद्धार नहीं कर सकते

धर्म और आध्यात्मिकता हमारे राष्ट्रीय जीवन का आधार स्तंभ है तो इन्हीं के आधार पर हमें सामाजिक पुनर्निर्माण करना चाहिए

वस्तुतः युवा विवेकानंद ने राष्ट्रीय विचारधारा को जो मोड़ दिया उसने श्री अरविंद बिपिन चंद्र पाल लोकमान्य

बाल गंगाधर और महात्मा गांधी जैसे राजनीतिक चिंतन के लिए उपयुक्त आधार तैयार कर

आजादी के बाद के दौर में भी भारतीय राजनीति में युवा शक्ति का महत्वपूर्ण स्थान बना रहा

और इस शक्ति ने विसंगतियों और विधाओं के खिलाफ संघर्ष कर स्वास्थ्य लोकतंत्र को स्थापित में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई वर्ष 1974 में युवा आंदोलन

ने श्रीमती इंदिरा गांधी की सत्ता को इस कदर डामाडोल कर दिया कि उन्होंने सत्ता संभालने के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी

आपातकालीन के दौरान ही श्री युवा शक्ति ने जबरदस्त दबाव बनाने का काम किया है और अंतत आपातकालीन हटाना पड़ा

असम में हुए छात्र आंदोलन में भी युवा शक्ति ने निर्णायक भूमिका निभाई और राजनीति में अपनी उपादेयता को सिद्ध किया

सिर्फ भारत ही नहीं बेसिक राजनीति में भी युवा शक्ति की उपादेयता को नकारा नहीं जा सकता राजनीति में युवा शक्ति

उत्तर प्रदेश की राजनीति में उभरती युवा शक्ति

की चर्चा करते हुए अधिवर्ष अट्ठारह सौ उनसठ के छात्र आंदोलन का जिक्र किया जाए तो 4 या चाचा अधूरी रह जाएगी या

युवा आंदोलन की एक ऐसी अवधारणा साधारण थी जिसने फ्रांस की एक तिहाई जनता को इस कदर उद्धृत किया युवा शक्ति के साथ चल पड़ी

इसी प्रकार वर्ष 1960 में जापान विरोधी आंदोलन जापान अमेरिका सुरक्षा संधि विरोधी युवा आंदोलन

में ऐसा प्रभाव दिखाएगी तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति आइजनहावर को जापान यात्रा स्थगित कर देनी पड़ी

पागल सुंदर मम्मी बात करें तो और वह के बसंत का जिक्र करना प्रासंगिक होगा यहां युवा शक्ति ने बदलाव को लहर लाकर एक गैर मामूली का नाम आकर दिखाएं

दुनिया में एक गरीब युवक ने क्रांति का सूत्रपात किया वह खुद तुम्हारा लेकिन उसने अपने बलिदान की 30 वर्ष पुरानी

आग लोग तो कहते सकता को ध्वस्त कर देने का रास्ता साफ कर दिया बाद में क्रांति और बदलाव की लहर

में सुमन बहरीन और लीबिया तक पहुंची लोकतंत्र के प्रति जागृत लोगों ने युवा आंदोलन किया

यह सुखद है कि मौजूदा दौर में भारत में सिर्फ एक ही बिस्तर पर युवा शक्ति के रूप में उभर रहा है,

बल्कि राजनीति में भी भारतीय युवा अच्छा प्रदर्शन कर लोकतंत्र को संबोधित कर रहे हैं युवा हाथ न सिर्फ लोकतंत्र का एक साफ सुथरा चेहरा करेंगे

बल्कि उसे ताजगी और ऊर्जा भी प्रदान करेंगे ऐसी उम्मीद की जानी चाहिए युवा शक्ति को किसी राष्ट्र के प्राण तत्व के रूप में देखा जाता है,

यह शक्ति आज उसको तो परिपूर्ण होती जा रही है वसुता युवा शक्ति को अनु शक्ति के समान ताकतवर होती है,

राजनीति में इसका सकारात्मक योगदान देश की कायापलट कर सकता है राजनीति में युवा शक्ति को

प्रोत्साहित करने का यही सही समय है और ऐसा करके हम युवा वर्ग स्वस्थ सामाजिक और मानसिक अनुकूलन कर सकते हैं